August 19, 2022

newshindi.co.in

hindi news

आखिर TATA को कैसे मिली IPL की स्पोंसरशिप। हिंदी न्यूज़।

भारत की बड़ी कंपनियों में एक टाटा ग्रुप ने IPL में दमाकेदार एंट्री हुई है, चायनीस मोबाइल कंपनी VIVO को हटाकर टाटा ग्रुप को IPL का नया टाइटल स्पोंसर बन गया है। टाटा ग्रुप ने IPL के साथ बतौर टाइटल स्पोंसर 2 साल के करार किया है, इन दोनों साल के लिए BCCI को करीब 670 करोड़ रूपये का भुगतान करेगा। इस तरह BCCI को कुल 670 करोड़ की कमाई होगी। इस साल यानी 2022 से ये टूनामेंट टाटा IPL के नाम से जाना जायेगा। भारत में क्रिकेट को लोग धर्म की तरफ फॉलो करते है, पिछले कुछ सालो से IPL के स्पोंसरशिप के रूप में वीवो को जगह मिलने के वजह से चीन की मोबाइल कंपनी घर घर में पॉपुलर हो चुकी है।

आज देश के दूरदराज के इलाको में हर कोई VIVO को जानता है, vivo ने साल 2018 से 2022 तक ipl के टाइटल स्पोंसर्शिप 2200 करोड़ में खरीदी थी,लेकिन गलवान घाटी में साल 2020 में भारत और चीन के बिच सैनिक टकराव के बाद vivo पर इससे हटने का दबाव पद गया था। आईपीएल 2020 में वीवो ने एक साल का ब्रेक लिया और इसकी जगह dream11 आईपीएल स्पोंसर बन गया लेकिन साल 2021 में वीवो फिर से आईपीएल की स्पोंसर बन गई, वीवो ने खुद ही स्पोंसरशिप से हटने का मन बनाया था ऐसे में उसे टर्मिनेट फीस के तौर पर साल 2022 में 183 करोड़ देने होंगे, और साल 2023 में 211 करोड़ देने होंगे। इसके आलावा हर सीजन में 6% असाइनमेंट फीस भी देनी होगी जो साल 2023 में 31 करोड़ होगी, इस तरह BCCI को अगले दो साल में 1124 करोड़ की कमाई होगी।