Jio Phone को टक्कर देने आ रहा है Airtel और Google का स्मार्टफोन। हिंदी न्यूज़।

एयरटेल:

मार्किट में इस बार फ़ोन की बढ़ती मांग को देखते हुए कंपनियों सस्ते में शानदार फ़ोन लाने पर जोर दे रही है। जिओ ने अपना सस्ता स्मार्टफोन बाजार में उतार कर ग्राहकों को अपने साथ कर लिया है, अब भारतीय एयरटेल ने जानकारी दी है की गूगल उनकी कंपनी में 1 अरब डॉलर का निवेश करेगा ये निवेश मल्टी ईयर अग्ग्रिमेंट के तहत होगा’ जिससे भारत के डिजिटल इकोसिस्टम को आगे बढ़ाया जायेगा। एयरटेल ने रेगुलरिटी फिलिंग में बताया की पार्टनशिप के तहत गूगल हमारी कंपनी में 1 अरब डॉलर यानी 7400 करोड़ का निवेश अगले 5 साल में करेगा, इस पार्टनशिप के तहत कंपनी जिओ के अफोर्डेबल स्मार्टफोन जिओ फ़ोन नेक्स्ट को टक्कर देने के लिए अपना फ़ोन तैयार कर सकती है।

एयरटेल एंड गूगल पार्टनरशिप:

एयरटेल ने बताया की पार्टनशिप का फोकस अलग अलग प्राइस रेंज में अफोर्डेबल स्मार्टफोन मुहैया करने पर होगा। इसके साथ ही कंपनी इस पार्टनशिप के तहत 5G क्लाउड इकोसिस्टम पर भी काम करेगी। कंपनी ने बताया की इस पार्टनशिप के तहत एयरटेल और गूगल अफोर्डेबल एंड्राइड स्मार्टफोन तैयार करने दोनों कंपनियों दूसरे डिवाइस मैनुफैक्टरिंग के साथ मिलकर काम करने का मौका देखेगी। जिससे एक प्राइस रेंज में स्मार्टफोन खरीदना आसान होगा।

गूगल:

इस डील से कंपनी एयरटेल में 1.28% की हिसेसेदारी 734 के भाव पर खरीदेगी। एयरटेल इस तरह जिओ को टक्कर देने की तैयारी कर रहा है। जिओ ने पहले ही गूगल और क्वालकॉम के साथ पार्टनशिप कर राखी है, कंपनी में इन दिनों ब्रांड से मिलकर जिओ फ़ोन नेक्स्ट पिछले साल लांच किया है।

सूंदर पिचाई:

इस स्मार्टफोन का फोकस काम बजट वाले यूजर है एयरटेल जिओ को टक्कर देने के लिए अपना अफोर्डेबल स्मार्टफोन लांच कर सकता है। गूगल और अल्फाबेट के CEO सूंदर पिचाई ने कहा भारत के डिजिटल फ्यूचर को शेप देने में एयरटेल का बड़ा हाथ है, हमें इस साझेदारी पर गर्व है हम कनेक्टिविटी को एक्सटेंड करके और ज्यादा भारतीयों तक इंटनेट की पहुंच के लिए एक विज़न पर काम करेंगे। वही भारतीय एयरटेल के चैयरमेन सुनील भारती मित्तल ने बताया की दोनों कंपनियों इनोवेटिव प्रोडक्ट की मददत से भारत में डिजिटल को तेज करना चाहती है।

Leave a Comment