August 3, 2022

newshindi.co.in

hindi news

छोटे कारोबारियो पर खतरा

ओमीक्रोने का बड़ा अटेक ग्राहक हो गए गायब दुकान दर हो गए गायब। ओमीक्रोने से देश के दुकानदारों का हाल बेहाल हो गया है पहले और दूसरे लहार में जोर का झटका लगने के बाद ये सेक्टर तेजी से उभर रहा था। फेस्टिविअल और वेडिंग सीजन के बाद करीब करीब प्रे Covid लेवल पर पहुंच गया था लेकिन रेटेल्स को रहत मिलने से पहले ही ओमीक्रोने vellian बनकर खड़ा हो गया रिवेकरि की रफ़्तार पर ओमिक्रोण ने एकदम से रोक लगा दी। Weekend और Night कर्फु के साथ ही दूसरे तरह के प्रतिबंद की वजह से दुकानदार की बिक्री में गिरावट आ गई है। जयपुर पर ओमिक्रोण का साया जयपुर Gems and jewellery business देश और दुनिया में महसूर है लेकिन कोरोना पहली दोनों लहरों के दौरान इस कारोबारी का Revenue 60.80% तक लुढ़क गया था यानी करीब 350 करोड़ का नुक्सान अकेले राजस्थान की Gems and jewellery Industry को हुआ है जबकि राज्यथान के छोटे कारोबारी को इस दौरान 3500 हज़ार करोड़ का नुक्सान हुआ था इन दोनों लहरों के बाद 70% कारीगर अपने घरो को लोट गए थे। इन में से 70% वापस भी आये लेकिन अब फिर से पाबन्दी लगने दोबारा लौट सकते है हलाकि सूरत का ज्वेलरी उद्योग पहिली लहार के बाद से ही इससे मुकाबला करना सिख गया था। सूरत पर ओमिक्रोण का साया है।

यहाँ के ज्वेलरी का बढ़ावा है की दूसरी लहार में कुछ ख़ास नुक्सान नहीं हुआ, वो अब आसानी से तीसरी लहार से पार निकल जायेगा। सूरत में भले ही शादियों का मौसम ज्वेलरी उद्योग का तारणहार बना हुआ है यही दूसरे रिटेलर्स के साथ हर जगह ऐसा नहीं है। भोपाल पर ओमिक्रोण का साया। भोपाल में व्यापारी लोक डाउन के आकांशा से परेशान है उनका कहना है की सरकार ने परिबंदो को एलान किया फिर उनहे कई लोगो को काम से हटाना पड़ सकता है। ये ही हाल देश की राजधानी दिल्ली और कारोबार Capital मुंबई समेत दूसरे शहरो का भी हैं जहा जहा कोरोना के प्रतिबंद लगाए गए है वह रिटेलर्स को बड़ा नुक्सान होना शुरू हो चूका है।