August 2, 2022

newshindi.co.in

hindi news

गोल्ड खरीदने में भारतीयों ने तोडा 10 साल का रिकॉर्ड

गोल्ड के दीवाने भारतीयों का सोने के प्रति ये मोह कोरोना काल में जोरो सोरो से बड़ा है कोरोना के पहली लहार के दौरान ज्यादातर ग्राहकों ने गोल्ड के हाई प्राइस को देखकर इससे दुरी बनाई राखी लेकिन बाद जैसे ही 2021 सोने के डैम घटने शुरू हुए 50 हज़ार से निचे आया तो लोगो ने सोने की जमकर खरीदारी शुरू का दी। इस वजह से भारत ने 2021 के दौरान गोल्ड import में 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। आकड़ो के मुताबित भारत में साल 2021 में 1050 टन सोना का आयत किया जिसके लिए 55.7 अरब डॉलर का खर्च किये गए जबकि 2020 में करीब 430 टन सोना आयत किया। जिसकी कुल कीमत 23 अरब डॉलर कम थी वही 2011 में 53.9 अरब डॉलर का सोना आयत किया गया था जो value में भले ही 2021 से कम है लेकिन मात्रा में कही ज्यादा है जानकारों का मानना है की 2021 में सोना को कीमतों में आई कमी के साथ ही 2020 में रुकी शादियों की 2021 में होने से खूब बिक्री हुई। इसके आलावा 2020 सोने की खरिसदारी के लियाज शुभ माने जाने वाले कई त्यौहार दौरान लॉक डाउन जैसे कड़े प्रतिबंद ने भी लोगो को खरीदना का मौका नहीं दिया। ऐसे में सोने की खरीदारी की कसार को पूरा करने के लिए लोगो ने 2021 में जमकर गोल्ड की शॉपिंग की। हलाकि भारत Gems एंड jewellery की दुनिया के कई देशो में भारी demand है america तो भारत jewellery का सबसे बड़ा आयत है।

ऐसे में सोने की ज्वेलरी बनाने के लिए भारत विदेशो से सोना आयत किया जाता है। साल 2021 में हालत में सुधार festival Wedding सीजन ने गहनों की मांग बड़ाई जिससे पूरा करने के लिए कारोबारी ने सोना ज्यादा आयत किया है अक्टूबर और नवंबर में सोना की सबसे ज्यादा खरीदारी की है इसके बाद शादियों के पिक सीजन के दौरान बाद सोना की बिक्री बड़ी है अकेले दिसंबर में ही भारत ने 86 टन सोने का आयत किया है सोने के खपत मामले में भारत दूसरे स्थान पर है देश जितनी सोने की खपत होती है उसमे 44% स्वेजेलैंड से और 11% UAE से ख़रीदा जाता है, हलाकि सोने के आयत बढ़ने का असर भारत के import Bill प् भी पड़ता है जो कच्चे तेल के साथ भारत के व्यापार घाटे में बढ़ोतरी की मुख वजह है।