क्या घटेगा Income Tax

दिल्ली: सोमवार से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Pre-Budget मीटिंग शुरू कर दी है,इन बैठक में उद्योगों संगठन और एक्सपर्ट से बजट के लिए सुझाव मांगे जायेगे। तीन फेस में होने वाले इस मीटिंग में वित्त मंत्री उद्योग मंडलों बुनयादी ढांचा क्षेत्र और पर्यावरण एक्सपर्ट के साथ बैठक करेगी,इन बैठको के शुरुवात होने से पहले ही कारोबारी संगठन Confederation of Indian Industry (CII) ने अगले साल के बजट में अपना एजेंडा सौपा दिया है। Confederation of Indian Industry (CII) के मुताबित लोगो के पास खर्च करने लायक पैसा बचेगा,इससे खपत भारतीय अर्थवयवथा को बढ़ने का फायदा मिलेगा।

जानकारों का भी मानना है की तमाम पहलु के मध्य नजर अब वक्त आ गया है की लोगो वक्तिगत आय में छूट दी जाए,Confederation of Indian Industry (CII) ने Indirect Tax में भी कुछ सुझाव वित्त मंत्रलाय को सौपे है। उद्योग संगठन ने सुझाव दिया है की GST कानून के दायरे से अपराध क्षेणी को बहार कर देना चाहिए,उद्योग संगठन का कहना है की इस कानून में टैक्स चोरी रोकने के लिए काफी दंडात्मक प्रावधान मौजूद है। Confederation of Indian Industry (CII)का कहना है की कारोबार के लिए ये टैक्स में बढ़ोतरी नहीं की जानी चाहिए,वही दीवानी मामलों में तब तक गिरफ्तारी या हिरासत में लेने की कार्यवाही नहीं होनी चाहिए जब तक की कारोबार अपराध साबित न हो जाए।

तोडा नरम रुक तैयार करने की जरुरत है। Confederation of Indian Industry (CII) की अगली मांग है की सरकार को Capital Gain Tax को फिर से विचार करना चाहिए,जिससे जाड़लताओ और विसगतियो को दूर किया जा सके। चैम्बर ने कहाँ है की राजकोषीय घाटे को 2023-24 तक कम करके GDP के 6%तक लाने और 2025-26 तक 4.5%पर लाने के लछ्य तय करने चाहिए। इसके अलावा Capital Expenditure को मौजूदा 2.9% से बढ़ाकर 2023-24 में 3.3% से 3.4% करना होगा,2024-25 तक इसे और भी बढ़ाकर 3.8%से 3.9% करने का लछ्य तय करने का सुझाव Confederation of Indian Industry (CII)दिया है।

Leave a Comment