August 9, 2022

newshindi.co.in

hindi news

कैसे होगा रिलायंस का बंटवारा। न्यूज़ हिंदी

देश के सबसे आमिर सख्त मुकेश अम्बानी अपनी 16 लाख करोड़ का विरासत किसे सोपेंगे इस सवाल का जवाब हर कोई जानना चाहता है। reliance ने मुकेश अम्बानी की रेटायर्मेंट को लेकर कुछ महीनो से चर्चा का बाजार गरम है। पिछले दिनों धीरूबाई अम्बानी के जन्म दिन के मोके पर मुकेश अम्बानी ने अपनी नए पीढ़ी की तारीफ़ भी की थी। मुकेश अम्बानी ने कहा था की नयी पीढ़ी नित्यत्व करने के लिए पूरी तरह तैयार है इस ब्यान से बल मिलता है की मुकेश अम्बानी नयी पीढ़ी को विरासत सौपने की तैयारी कर रहे है। मुकेश अम्बानी अपनी सम्पति का बटवारा किस तरह अपने बच्चो के बिच करेंगे ये अभी तय नहीं है लेकिन मुकेश अम्बानी को 3 बच्चो के लिए 3 super star business बनाने होंगे। ये बिज़नेस मोबाइल इंटरनेट रिटेल और ग्रीन एनर्जी हो सकते है इन तीनो कारोबार में आगे growth की काफी संभावना है। 64 साल के हो चुके मुकेश अम्बानी के लिए बगैर किसी विवाद के अपनी विरासत को अपनी उत्तर अधिकारी सौपना बहुत महत्वपूर्ण है पिता धुरुबाई अम्बानी का 2002 में बगैर वासियस किये बटवारा हो गया था। इसके बाद छोटे भाई अनिल अम्बानी के साथ कुल सम्पति को लेकर हुआ विवाद को दोहराना नहीं चाहेंगे खबरे ऐसी भी है की रॉलिन्स इंडस्ट्री को ट्रस्ट की तरह से सेक्टर में तब्दील करने का विचार चल रहा है। इसके बोर्ड में मुकेश अम्बानी उनकी पत्नी नीता अम्बानी और तीनो बच्चो आकाश, ईशा और अनंत शामिल होने। पूरा परिवार सयुक्त रूप से पुरे साम्राज्य को देखे। रॉलिन्स के बिज़नेस के बटवारे के लिए ये idea बेहतर हो सकता है।

इसकी वजह ये भी हो सकता है की रिलायंस green एनर्जी बड़ा डाव खेल रही है रिलायंस नए green एनर्जी कारोबार पार्ट 75000 करोड़ का निवेश करेगी। जिसमे से 60000 करोड़ रेन्युबल एनर्जी पर मिवेश किये जायेगे। जामनगर में 5000 एकेड में green एनर्जी धीरूबाई गिना काम्प्लेक्स बनेगा इसके आलावा सोलर एनर्जी के प्रोडक्शन प्लांट लगाएंगे जायेगे। Advance एनर्जी स्टोरेज बैटरी फैक्टरी लगाई जाएगी। ग्रीन हाइड्रोजन production के लिए electrolyser फैक्ट्री लगाई जाएगी कम्पनी की इस महत्वपूर्ण काशी बदल के cost of capital अहम् भूमिका होगी। जिस तरह कंपनी refine से मिल रहीं डैम पर telecome business में बड़ा मुकाम हासिल किया। उसी तरह digital business और retail से मिल रहे मुनाफे के दाम पर नयी पीढ़ी green energy पर कमाल कर सकती है। google के साथ partenship कर चूका रिलायंस का jio प्लेटफॉर्म लिमिटेड मजबूत इस्तिथि में है हलाकि रिटेल में रिलायंस के राह आसान नहीं है रिलायंस के रिटेल बिज़नेस को अमेज़न से टक्कर मिल रहीं है। future group के अधिग्रहक का मामला अटक गया है वही new energy में गौतम अडानी से मुकाबला करना होगा। अडानी 2030 तक दुनिया के सबसे बड़े रिन्यूएबल green energy  में तेजी से निवेश का रहे है। अपनी भविष्य की योजना और कंपनी के हितो को ध्यान में रखकर मुकेश अम्बानी success policy बनायेगे।